प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी गुजरात को देंगे एक और बड़ी सौगात, 10 जून को करेंगे नवसारी मेडिकल कॉलेज का भूमिपूजन

0
44

542.50 करोड़ रुपए की लागत से बनने वाला मेडिकल कॉलेज 2024 में होगा पूरा

गंभीर और जटिल बीमारियों के उपचार की भी रहेगी सुविधा

नवसारी सहित 5 ज़िलों के 2397 गाँवों के लगभग 1 करोड़ लोगों को मिलेगी विश्वस्तरीय स्वास्थ्य सुविधाएँ

पिछले 5 साल में केन्द्र सरकार ने गुजरात को AIIMS सहित दिए 9 मेडिकल कॉलेज

गांधीनगर, 9 जून 2022 (बीबीएन): प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 10 जून शुक्रवार को अपने एक दिवसीय दौरे पर गुजरात आ रहे हैं। इस दौरान वे गुजरात को एक और बड़ी सौगात देंगे। प्रधानमंत्री नवसारी में नए GMERS मेडिकल कॉलेज का शिलान्यास करेंगे। उल्लेखनीय है कि पिछले 5 साल में केन्द्र सरकार द्वारा गुजरात में 9 मेडिकल कॉलेजों के निर्माण को स्वीकृति दी गई है, जिसमें AIIMS भी शामिल है। 

इस महत्वपूर्ण प्रोजेक्ट के संदर्भ में मुख्यमंत्री भूपेन्द्र पटेल ने बताया, ‘‘इस मेडिकल कॉलेज से नवसारी और इसके आसपास 5 ज़िलों में रहने वाले लगभग 1 करोड़ लोगों को विश्वस्तरीय स्वास्थ्य सेवाएँ मिल सकेंगी। इस प्रोजेक्ट को हम वर्ष 2024 तक पूरा कर लेंगे। हम गुजरात के सरकारी अस्पतालों में विश्वस्तरीय तकनीक और स्वास्थ्य सुविधाएँ उपलब्ध करा रहे हैं। मैं प्रधानमंत्रीजी का आभारी हूँ कि उन्होंने गुजरात को पिछले 5 सालों में 9 नए मेडिकल कॉलेजों की सौगात दी है। मेडिकल इन्फ़्रास्ट्रक्चर में गुजरात की दिनोंदिन बढ़ती यह उपलब्धि आने वाले समय में गुजरात को मेडिकल टूरिज़्म के रूप में स्थापित करेगी।’’

542.50 करोड़ रुपए की लागत से बनेगा मेडिकल कॉलेज : नवसारी में स्थापित होने वाले इस नए मेडिकल कॉलेज को 542.50 करोड़ रुपए की लागत से 20 एकड़ क्षेत्र में बनाया जाएगा। कॉलेज भवन के निर्माण में लगने वाली लागत के साथ-साथ मेडिकल इंस्ट्रूमेंट्स, मेडिकल इक्विमेन्ट, और हॉस्पिटल हार्डवेयर के लिए भी राज्य सरकार अतिरिक्त रूप से लगभग 74 करोड़ रुपए खर्च करेगी। राज्य सरकार का लक्ष्य है कि इस प्रोजेक्ट को 2024 तक पूरा कर लिया जाएगा। इसके अलावा, वर्तमान में नवसारी में 5 एकड़ के क्षेत्र में कार्यरत सरकारी अस्पताल को भी अपग्रेड किया जाएगा।

गंभीर और जटिल बीमारियों के उपचार की भी रहेगी सुविधा : गुजरात सरकार के अतिरिक्त मुख्य स्वास्थ्य मुख्य सचिवश्री मनोज अग्रवाल (IAS) ने इस मेडिकल कॉलेज की तकनीकी जानकारी के बारे में बात करते हुए कहा, ‘‘इस मेडिकल कॉलेज को 446 बेड की सुविधा के साथ Tertiary Care Hospital के रूप में विकसित किया जाएगा। इसका संपूर्ण भवन आधुनिक सुविधाओं से युक्त होगा। इसमें लगभग सभी बीमारियों से संबंधित ओपीडी की सुविधा के साथ-साथ आईपीडी के लिए 7 मेजर ऑपरेशन थियेटर, 9 माइनॉर ऑपरेशन थिएटर, 7 इंटेंसिव केयर यूनिट्स, 6 डेडिकेटेड ICU बेड्स के साथ 30 बेड्स वाला एक अति आधुनिक आपातकालीन चिकित्सा विभाग, कम्पोनेंट सेपरेशन सुविधाओं के साथ ब्लड बैंक, फार्मेसी और क्लीनिकल लैबोरेटरीज़, 26 जनरल वॉर्ड्स और 13 आउटपेशेंट विभाग की सुविधा रहेगी।’’

725 नए डॉक्टर्स, नर्सेस और दूसरे तकनीकी स्टाफ की होगी भर्ती : इस नए मेडिकल कॉलेज के लिए 125 डॉक्टर्स और लगभग 600 नर्सेस व दूसरे तकनीकी स्टाफ़ की भर्ती समेत कुल 725 स्टाफ़ की भर्ती की जाएगी। इसके अलावाइस कॉलेज में प्रति वर्ष 100 छात्र MBBS की पढ़ाई कर सकेंगे। साथ हीध्यान देने वाली बात यह भी है कि पिछले 5 सालों में 9 नए मेडिकल कॉलेजों की स्वीकृति के कारण गुजरात में 5800 MBBS सीटें बढ़ी हैं और आने वाले समय में लगभग 6500 डॉक्टर्स, नर्सेस व दूसरे तकनीकी स्टाफ़ को इन मेडिकल कॉलेजों में नौकरी दी जाएगी।