मोदी के बाद शाह मैदान में : MHA ने की 17 मई तक के लॉकडाउन 3.0 की घोषणा, जानिए आप किस ज़ोन में हैं ?

0
451

ग्रीन ज़ोन में अनुशासन के साथ पटरी पर लौट सकती है ज़िंदगी

ऑरेंज ज़ोन में भी कुछ राहत, पर रेड ज़ोन में कड़ा होगा लॉकडाउन 3.0

गुजरात में अहमदाबाद-गांधीनगर सहित 9 जिले हैं रेड ज़ोन में

रिपोर्ट : कन्हैया कोष्टी

अहमदाबाद (1 मई, 2020)। पूरा देश प्रतीक्षा कर रहा था कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अगले 48 घण्टों के भीतर राष्ट्रीय सरकारी चैनल दूरदर्शन (DOORDARSHAN) पर पाँचवीं बार साक्षात् होंगे। लोग टकटकी लगाए इस समाचार की प्रतीक्षा कर रहे थे कि पीएम मोदी 3 मई, 2020 को मध्य रात्रि 12.00 बजे समाप्त होने जा रहे लॉकडाउन (LOCKDOWN) को लेकर कोई नई घोषणा करने के लिए कब राष्ट्र के नाम संदेश देंगे, परंतु इस बार कोरोना (CORONA) विरोधी युद्ध के इस कठिन काल में गृह मंत्री अमित शाह मैदान में आए।

मोदी की प्रतीक्षा के बीच अमित शाह के गृह मंत्रालय (MHA) ने शुक्रवार सायंकाल लॉकडाउन को 17 मई, 2020 रविवार रात मध्य रात्रि 12.00 बजे तक बढ़ाने की घोषणा की। इसके साथ ही अब पीएम मोदी के राष्ट्र के नाम संदेश की संभावनाएँ लगभग समाप्त हो गईं। केन्द्र सरकार के लॉकडाउन की अवधि बढ़ाने के साथ ही देश में लॉकडाउन 3.0 (LOCKDOWN 3.0) प्रारंभ हो गया। यद्यपि लॉकडाउन 3.0 आज अंतरराष्ट्रीय श्रमिक दिवस पर सहस्त्रों श्रमिकों के लिए राहत का समाचार लेकर आया, क्योंकि एमएचए ने लॉकडाउन 3.0 में लॉकडाउन 1.0 व लॉकडाउन 2.0 की तुलना में कई राहतें दी हैं।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पिछले दिनों राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से मंत्रणा की थी। इसके बाद प्रधानमंत्री मोदी तथा गृह मंत्री अमित शाह व उनके मंत्रालय के अधिकारियों ने व्यापक मनोमंथन किया और देश में कोविड 19 (COVID 19) प्रभावित क्षेत्रों को रेड ज़ोन, ऑरेंज ज़ोन एवं ग्रीन ज़ोन में बाँट दिया। इस प्रकार लॉकडाउन 3.0 में ग्रीन ज़ोन में सबसे बड़ी राहत यह रहेगी कि वहाँ सामाजिक अंतर (SOCIAL DISTANCING), मॉस्क, सेनिटाइज़ेशन व अन्य आवश्यक सतर्कताओं की अनुपालना करते हुए विभिन्न औद्योगिक-व्यावसायिक गतिविधियाँ की जा सकेंगी। साथ ही सरकारी-निजी ऑफिस भी खुल सकेंगे। इसके साथ ही केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने देश के देश में कुल 733 जिलों में से 130 जिलों को रेड ज़ोन, 284 जिलों को ऑरेंज ज़ोन तथा 319 जिलों को ग्रीन ज़ोन में रखा है। बात यदि गुजरात व रेड ज़ोन की करें, तो अहमदाबाद सहित गुजरात के 9 जिले रेड ज़ोन में हैं, जिनमें अहमदाबाद, वडोदरा, सूरत, वडोदरा, भावनगर, राजकोट, पंचमहाल, गांधीनगर, अरवल्ली शामिल हैं।

इससे पहले आसार व्यक्त किए जा रहे थे कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र 19 मार्च के बाद पाँचवीं बार राष्ट्र के नाम संदेश देने के लिए दूरदर्शन पर आएँगे और लॉकडाउन को लेकर आवश्यक घोषणा करेंगे। देश में कोरोना वायरस (CORONA VIRUS) से व्याप्त हुई कोविड 19 (COVID 19) नामक नरभक्षी महामारी के चलते गत 25 मार्च, 2020 से लॉकडाउन (LOCKDOWN) लागू किया गया है।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 24 मार्च, 2020 रात 8.00 बजे लॉकडाउन आधी रात से 14 अप्रैल तक के लिए लॉकडाउन लागू करने की घोषणा की थी, जिसे 13 अप्रैल को मोदी ने ही 3 मई तक के लिए बढ़ा दिया गया। लॉकडाउन की अवधि बढ़ने के साथ ही देश में लॉकडाउन 1.0 व लॉकडाउन 2.0 नामक दो नए शब्द अस्तित्व में आए। अब जबकि 25 मार्च से 14 अप्रैल के लॉकडाउन 1.0 के बाद 15 अप्रैल से 3 मई तक के लिए लागू लॉकडाउन 2.0 की उल्टी गिनती (COUNTDOWN) आरंभ हो गई थी, तब देशवासियों के मन में यही प्रश्न उठ रहे थे कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ‘लॉकडाउन 2.0 के बाद क्या ?’ के उत्तर में कब तथा क्या लेकर आएँगे ? क्या मोदी देश को लॉकडाउन 3.0 देंगे ? क्या लॉकडाउन 3.0 पहले व दूसरे लॉकडाउन की तुलना में कुछ राहतें लेकर आएगा ? क्या लॉकडाउन 3.0 रेड ज़ोन पर भारी, ऑरेंज ज़ोन पर हल्का तथा ग्रीन ज़ोन पर राहत की फुहार लेकर आएगा ? क्या ग्रीन ज़ोन में कोरोना से पहले वाला जीवन पुन: चल पड़ेगा ? गृह मंत्रालय (MINISTRY OF HOME AFFAIRS) की ओर से जारी दिशा-निर्देश के साथ ही जहाँ एक ओर लॉकडाउन 17 मई तक बढ़ गया, वहीं लोगों को उनके इन प्रश्नों के उत्तर भी मिल गए।

चार बार राष्ट्र के नाम संदेश दे चुके हैं मोदी

चूँकि लॉकडाउन 2.0 की अवधि समाप्त होने में यह समाचार लिखे जाने तक केवल 48 घण्टों का समय शेष रह गया था, तब पूरा देश प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के दूरदर्शन पर दर्शन की प्रतीक्षा कर रहा था, परंतु मोदी ने इस बार सबकी अवधारणा ग़लत सिद्ध कर दी और वे टीवी पर नहीं आए। इससे पहले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी कोरोना विरोधी युद्ध के दौरान अब तक 4 बार दूरदर्शन पर प्रकट होकर राष्ट्र के नाम संदेश दे चुके हैं

पहला संबोधन : 19 मार्च, 2020

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 19 मार्च, 2020 गुरुवार को राष्ट्र के नाम संदेश में देशवासियों का 22 मार्च, 2020 रविवार को जनता कर्फ्यू रखने व सायं 5 बजे ध्वनिनाद करने का आह्वान किया था। मोदी ने घंटी, शंख या अन्य ध्वनि यंत्रों को बजा कर कोरोना विरोधी योद्धाओं का उत्साह-वर्धन करने के लिए यह आह्वान किया था।

दूसरा संबोधन : 24 मार्च, 2020

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 24 मार्च, 2020 मंगलवार को रात 8.00 बजे राष्ट्र के नाम संदेश में मध्य रात्रि 12.00 बजे यानी 25 मार्च, 2020 बुधवार से 21 दिन के यानी 14 अप्रैल, 2020 मंगवार मध्य रात्रि 12.00 बजे तक लॉकडाउन की घोषणा की और पूरा देश ठहर गया।

तीसरा संबोधन : 3 अप्रैल, 2020

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 3 अप्रैल, 2020 शुक्रवार को पुन: रात 8.00 बजे राष्ट्र के नाम संदेश में देशवासियों का आह्वान किया कि वे 5 अप्रैल, 2020 रविवार रात 9.00 बजे 9 मिनट के लिए घर में बिजली की सभी लाइट्स ऑफ कर दें और दीया, मोमबत्ती, मोबाइल टॉर्च या मोबाइल फ्लैश लाइट जला कर कोरोना विरोधी योद्धाओं का उत्साह बढ़ाएँ।

चौथा संबोधन : 13 अप्रैल, 2020

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 13 अप्रैल, 2020 सोमवार को पुन: एक बार दूरदर्शन पर प्रकट हुए। इस बार समय रात 8.00 बजे का नहीं, वरन् सुबह 10.00 बजे का था। मोदी ने राष्ट्र के नाम अपने चौथे संबोधन में 14 अप्रैल, 2020 मंगलवार रात 12.00 बजे समाप्त हो रही लॉकडाउन की अवधि को 3 मई, 2020 रविवार रात 12.00 बजे तक बढ़ाने की घोषणा की।