क्या है ‘35 का दुर्लभ दुर्ग’, जिसे नहीं तोड़ सके 53 के इरफान और चली गई जान..?

0
445

‘कोरोना क्लांत’ के बीच ‘IRRFAN’ भी कर गए अशांत

छात्रवृत्ति ने इरफान को CRICKETER से ACTOR बना दिया

जब पत्नी से ‘बनेगी अपनी बात’ का 1 एपिसोड 11 बार लिखवाया

आलेख : कन्हैया कोष्टी

अहमदाबाद (29/04/2020)। भारत में कोरोना वायरस (CORONA VIRUS) के कारण फैली वैश्विक महामारी कोविड 19 (COVID 19) से मरने वालों का आँकड़ा बुधवार को 1,000 को पार कर गया, परंतु इन 1,000 मौतों के बीच विख्यात व प्रतिभाशाली अभिनेता इरफान खान (IRRFAN KHAN) के निधन ने पूरे देश में छाए कोरोना आघात पर मानों वज्राघात कर दिया। भारतीय फिल्म जगत (BOLLYWOOD) नहीं, अपितु राजनीति से लेकर कई क्षेत्र के लोग अभिनेता इरफान खान के निधन से स्तब्ध रह गए। राष्ट्र पहले ही कोरोना के कारण से क्लांत था, ऊपर से इरफान के निधन ने लोगों को और अशांत कर दिया।

7 जनवरी, 1967 को जयपुर-राजस्थान में जन्मे इरफान खान ने आज एक दुर्लभ बीमारी Neuroendocrine Tumor (NET) के कारण मुंबई के कोकिलाबेन अंबाणी अस्पताल में अंतिम साँस ली। वे अपने पीछे पत्नी सुतापा सिकदर (Sutapa Sikdar) तथा दो पुत्रों को छोड़ गए हैं। इरफान का अचानक अलविदा कह जाना सभी को शोकग्रस्त कर गया। दूरदर्शन से लेकर स्टार वन जैसे टीवी मनोरंजन चैनलों पर कई धारावाहिकों से एक्टिंग करियर शुरू करने वाले इरफान ने 1988 में सलाम बॉम्बे (Salaam Bombay) फिल्म में केमियो रोल के साथ बॉलीवुड में प्रवेश किया, परंतु उन्हें बॉलीवुड में लीड रोल पाने में उन्हें 17 साल लग गए। 2005 में इरफान को फिल्म रोग (Rog) में मुख्य भूमिका निभाने का पहली बार अवसर मिला, परंतु सफलता उनकी प्रतीक्षा हॉलीवुड (Hollywood) में कर रही थी, जहाँ इरफान ने 2001 में आसिफ कापडिया की फिल्म द वॉरियर (The Warrior) से डंका बजाया। इरफान ने द वॉरियर के लिए हिमाचल प्रदेश व राजस्थान में मात्र 11 सप्ताहों में शूटिंग की। अंतरराष्ट्रीय फिल्म फेस्टिवल में द वॉरियर की ओपनिंग हुई और इरफान खान विख्यात अभिनेता के रूप में उभरे। इसके बाद बॉलीवुड में उन्होंने पानसिंह तोमर, पीकू सहित कई फिल्मों के ज़रिए अपनी पहचान बनाई और दर्शकों के दिल पर एक अलग ही अभिनेता के रूप में स्थापित हो गए। इरफान खान कितने महान अभिनेता थे, यह इस बात से सिद्ध हो जाता है कि कोरोना संक्रमण काल के बीच प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी TWEET कर उन्हें श्रद्धांजलि दी।

परंतु… ‘35 की टोली’ ने इरफान को ले लिया चपेट में

अब हम मुद्दे की बात करते हैं। इरफान के निधन के बाद उनके विषय में बहुत कुछ जानकारियाँ आपको अन्य मीडिया में मिल जाएँगी, परंतु हम आपको इरफान से जुड़े अनसुने रोचक तथ्य बताने जा रहे हैं। इरफान खान एक मज़बूत मनोबल वाले व्यक्ति थे, परंतु विधि की विडंबना देखिए कि उन्हें जो रोग हुआ, उसके लिए न तो उनकी कोई लापरवाही ज़िम्मेदार है और न ही कोरोना जैसा कोई वायरस। इरफान खान को न्यूरोएंडोक्राइन ट्यूमर (NET) बीमारी थी। 1907 में पहली बार चिह्नित किए गए एनईटी में न्यूरो शब्द होने के कारण अक्सर लोग इसे मस्तिष्क से जुड़ी बीमारी मान बैठते हैं, परंतु वास्तव में एनईटी पीड़ित व्यक्ति के शरीर में एक ऐसी गाँठ बनती है, जिसका विकास अत्यंत धीमी गति से होता है और लक्षण भी ज़ल्द नहीं दिखाई देते। एक अध्ययन के अनुसार एनईटी एक दुर्लभ बीमारी है, जो 10 लाख में 35 लोगों को होती है। इरफान कब इस 35 की टोली की चपेट में आ गए, उन्हें ख़ुद को भी नहीं पता चला। जब पता चला, तब कदाचित बहुत देर हो चुकी थी, क्योंकि एनईटी शरीर में व्यापक रूप से फैल जाने के बाद लक्षण दिखाता है। यही कारण है कि इरफान खान को इस ‘35 के दुर्लभ दुर्ग’ ने मात्र 53 की आयु में चिरनिद्रा में सुला दिया। इरफान इस दुर्ग को नहीं तोड़ पाए।

इरफान का R से मोह सहित 10 रोचक तथ्य

(1) इरफान खान पर काम की धुन सवार थी। उनकी पत्नी सुतापा सिकदर के अनुसार इरफान तड़के 3 बजे उठ जाया करते थे। इरफान खान को R बहुत प्रिय था। इसीलिए 2012 में इरफान ने अपने नाम का अंग्रेज़ी स्पेलिंग IRFAN से IRRFAN कर लिया था। उनका कहना था कि उन्हें अपने नाम में आर की अतिरिक्त ध्वनि बहुत भाती है।

(2) राजस्थान में टोंक जिले के निकट स्थित खजूरिया गाँव में जन्मे इरफान का पारिवारिक व्यवसाय टायर का था, परंतु इरफान व उनके श्रेष्ठ मित्र सतीश शर्मा अच्छे क्रिकेटर थे।

(3) इरफान खान का 23 साल से क आयु में सीके नायडू क्रिकेट टूर्नामेंट के लिए चयन हुआ था। इसके साथ ही इरफान ने फर्स्ट क्लास क्रिकेट में पदार्प किया था। यद्यपि इरफान पैसों की कमी के कारण इस टूर्नामेंट में भाग नहीं ले सके।

(4) इसी बीच इरफान जब एमए की पढ़ाई कर रहे थे, तभी 1984 में उन्हें राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय (NSD), नई दिल्ली से छात्रवृत्ति मिली और इरफान ने अभिनय कला का प्रशिक्षण लिया।

(5) अभिनय कौशल्य प्राप्त करने के बाद इरफान मुंबई आ गए और मुंबई के ही होकर रह गए तथा मुंबई में ही उन्होंने दुनिया को अलविदा कह दिया।

(6) इरफान से 23 फरवरी, 1995 को विवाह करने वाली सुतापा सिकदर के अनुसार उनके पति इरफान काम के प्रति जबर्दश्त समर्पित थे। एक बार तो टीवी धावाराहिक बनेगी अपनी बात के लिए इरफान ने सुतापा से एक एपिसोड 11 बार लिखवाया।

(7) एक बार इरफान खान पुलिस को समझाने तथा पुलिस की कार्यशैली व प्रक्रिया को समझाने के लिए सुतापा को बाक़ायदा पुलिस थाने ले गए थे।

(8) अपने अलग ही अंदाज़ व अभिनय के लिए विख्यात इरफान ने फरवरी-2018 में पहली बार सोशल मीडिया पर जानकारी दी थी कि वे किसी अज्ञात बीमारी से पीड़ित हैं। मीडिया व फैन्स में इरफान को कैंसर होने की ख़बरें चलाई थीं।

(9) 16 मार्च, 2018 को इरफान ने ट्वीट कर घोषणा की कि वे Neuroendocrine Tumor (NET) नामक बीमारी से पीड़ित हैं और इलाज के लिए लंदन जा रहे हैं।

(10) मार्च-2018 में इरफान ने स्वयं के NET से पीड़ित होने की पुष्टि की और कहा कि यह कैंसर का ही एक दुर्लभ रूप है, जो शरीर के कई अंगों को नुकसान पहुँचाता है।