हे क्रिकेटेश्वर ! सर्वेश्वर ने दिया सागर अपार, अब मेघ बन बरसो मूसलाधार…

0
263

* कोरोना डॉनेटर्स में 2 करोड़ के साथ गंभीर सर्वोपरि

* मैरी कॉम ने भी किया 1 करोड़ रुपए का योगदान

* रोहित शर्मा 80 लाख व सुरेश रैना 52 लाख दिए

* सचिन तेंदुलकर की दान राशि 50 लाख रुपए !

रिपोर्ट : कन्हैया कोष्टी

अहमदाबाद (24 अप्रैल, 2020)। समग्र भारत वर्ष में ‘क्रिकेट का भगवान’ (GOD OF CRICKET) के रूप में प्रसिद्ध महान क्रिकेट खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर का आज 47वाँ जन्म दिवस है। देश में क्रिकेट के दीवानों में विशेषकर सचिन के फैन्स की संख्या करोड़ों के पार है और सभी अपने प्रिय खिलाड़ी को जन्म दिन की बधाई दे रहे हैं।

सचिन तेंदुलकर के जीवन का यह कदाचित पहला ऐसा जन्म दिवस होगा, जिसे वे अपने घर में मनाएँगे। देश में व्याप्त कोरोना (CORONA) महामारी तथा लॉकडाउन (LOCKDOWN) के कारण सचिन को अपना 47वाँ जन्म दिवस घर पर ही मनाना होगा। सचिन यानी क्रिकेट के भगवान को कोरोना संकट व लॉकडाउन के बीच सोशल मीडिया के माध्यम से देश भर से बधाइयाँ दी जा रही हैं। सचिन ने क्रिकेट के भगवान की यह उपाधि नि:संदेह अपने कड़े परिश्रम, लगन व उत्साह के बल पर प्राप्त की है और आज सचिन भारत के आदर्श व्यक्तियों की सूची में शामिल हैं।

सचिन ने अपने क्रिकेट करियर के दौरान सदा-सर्वदा भारत और भारतीय क्रिकेट टीम (TEAM INDIA) को अनेक अविस्मरणीय विजय दिलाई और साथ ही साथ अपने दमदार खेल से व्यक्तिगत रिकॉर्ड्स व कीर्तिमानों का भी ऐसा पहाड़ खड़ा किया, ऐसी रेखा खींची, जिसे लांघना हर किसी के बस की बात नहीं है। भारत में सचिन केवल एक खिलाड़ी नहीं, अपितु एक आदर्श हैं, जिनसे देश में क्रिकेटर बनने का सपना संजोने वाला हर युवा निरंतर प्रेरणा लेता है।

सचिन यदि आज भारत में एक ICON हैं, तो उन्होंने अपनी इस गरिमा के अनुरूप जब-जब देश को आवश्यकता पड़ी, तब-तब अपने कर्तव्यों का श्रेष्ठता से पालन किया। सचिन कोविड 19 (COVID 19) के विरुद्ध देश में चल रहे स्वास्थ्य युद्ध में निरंतर अपनी भागीदारी तथा उपस्थिति दर्ज करा रहे हैं। सचिन ने कोरोना की चेन तोड़ने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा घोषित लॉकडाउन का पालन करवाने में भी अपनी व्यक्तिगत प्रतिष्ठा का उपयोग किया। इतना ही नहीं, सचिन ने कोरोना से लड़ने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा गठित Prime Minister’s Citizen Assistance and Relief in Emergency Situations (PM CARES) Fund में भी 25 लाख रुपए तथा महाराष्ट्र मुख्यमंत्री राहत कोष में 25 लाख रुपए दान स्वरूप प्रदान किए हैं। इसके अतिरिक्त सचिन तेंदुलकर ने मुंबई में ‘अपनालय’ स्वैच्छिक संगठन से समन्वय कर प्रतिमाह 5000 लोगों को भोज कराने की व्यवस्था करवाई है।

यक्ष प्रश्न : 900 करोड़ की संपत्ति, 50 लाख पर क्यों सिमटे सचिन ?

चूँकि आज क्रिकेटेश्वर सचिन तेंदुलकर का जन्म दिवस है। इस शुभ अवसर पर हम सचिन तेंदुलकर के विरुद्ध कोई टिप्पणी नहीं करने जा रहे, परंतु भारत में क्रिकेट खिलाड़ियों की अरबों-खरबों की आय किसी से छिपी नहीं है। क्रिकेट खिलाड़ियों को यह प्रतिष्ठा भारत के नागरिकों द्वारा ही प्रदान की गई है। ऐसे में जब, उसी भारत के नागरिक कोरोना संक्रमण के संकट से जूझ रहे हैं, तब क्रिकेट खिलाड़ियों को अपने फैन्स नागरिकों की सहायता के लिए निश्चित ही तत्पर होना चाहिए और उन्होंने तत्परता दिखाई भी है, परंतु दान के आँकड़ों ने सचिन तेंदुलकर को लेकर यह विस्मयकारी प्रश्न अवश्य पैदा किया है। सर्च इंजन GOOGLE पर उपलब्ध जानकारी के अनुसार सचिन तेंदुलकर कुल 900 करोड़ की संपत्ति के स्वामी हैं। सचिन की वार्षिक आय 80 करोड़ (दैनिक 30 लाख) है। इतनी मोटी कमाई करने वाले क्रिकेट के भगवान सचिन ने केवल 50 लाख रुपए का ही दान क्यों किया ? क्रिकेटेश्वर सचिन को सर्वेश्वर ने सम्पत्ति का सागर अपार दिया है, जिसका स्रोत माँ भारती है। इसके पश्चात् भी सचिन यदि इस अपार संपत्ति सागर से मेघ बन कर बरसने के स्थान पर बूंद-बूंद बाँट रहे हैं, तो यह क्रिकेट ही नहीं, वरन् किसी भी खेल से जुड़े खिलाड़ी के लिए प्रेरणादायक बात नहीं कहलाएगी। भव्य भारत न्यूज़ आज सचिन तेंदुलकर को उनके 47वें जन्म दिवस पर न केवल शुभकामनाएँ देता है, अपितु उनसे यह अपेक्षा व अनुरोध भी करता है कि वे संकटग्रस्त भारतवासियों, करोड़ों फैन्स की सहायता के लिए थोड़ी और उदारता दिखाएँ तथा उन्हें मिली भगवान की उपाधि को सार्थक करें।

गंभीर सर्वाधिक गंभीर, तो अन्य खिलाड़ी भी आगे आए

सचिन की दान राशि पर इसलिए भी आश्चर्य होता है, क्योंकि पद, प्रतिष्ठा, प्रसिद्धि तथा आय में सचिन से पीछे पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर कोरोना डॉनेटर खिलाड़ियों में शीर्ष पर हैं, तो क्रिकेट से इतर अन्य खेलों के उभरते हुए खिलाड़ियों ने भी राष्ट्र की सहायता में अपनी समर्थता के अनुरूप दान का हाथ आगे बढ़ाया है।

गौतम गंभीर – 2 करोड़ + 2 वर्ष का वेतन : क्रिकेटर से राजनीति में आकर भाजपा सांसद बने गौतम गंभीर ने दान की सबसे पहले पहल की। उन्होंने सांसद स्थानीय क्षेत्र विकास कोष (MP LAD FUND) से 1 करोड़ रुपए दिल्ली सरकार और 1 करोड़ रुपए तथा 1 माह का वेतन केन्द्र सरकार के राष्ट्रीय राहत कोष में दान किए। इतना ही नहीं, गौतम गंभीर ने आगामी 2 वर्षों तक सांसद के रूप में वेतन नहीं लेने का निर्णय करते हुए यह वेतन राशि पीएम केयर्स फंड में दान करने की भी घोषणा की है। इस प्रकार गंभीर ने कुल 2 करोड़ रुपए तथा 25 महीनों का वेतन दान किया है।

एमसी मैरी कॉम : एथलीट व मुक्केबाज़ तथा राज्यसभा सांसद एमसी मैरी कॉम ((MC MARY KOM) ) ने भी सचिन से दुगुनी राशि यानी 1 करोड़ रुपए कोरोना विरोधी युद्ध के लिए गठित पीएम केयर्स फंड में देने की घोषणा की है। मैरी कॉम ने ये 1 करोड़ रुपए सांसद निधि कोष से तथा एक माह का वेतन पीएम केयर्स फंड में दान किया है।

रोहित शर्मा – 80 लाख : क्रिकेटर रोहित शर्मा करोना विरोधी युद्ध में 80 लाख रुपए का योगदान कर खेल जगत के दानियों में दूसरे स्थान पर हैं। रोहित शर्मा ने पीएम केयर्स फंड में 45 लाख, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री राहत कोष में 25 लाख, फीडिंग इंडिया को 5 लाख तथा आवारा कुत्तों के लिए 5 लाख रुपए की राशि दान की है।

विराट कोहली – गोपनीय : टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली तथा उनकी पत्नी अनुष्का शर्मा (VIRUSHKA) ने पीएम केयर्स फंड तथा महाराष्ट्र मुख्यमंत्री राहत कोष में गुप्त दान किया।

सौरव गांगुली – 50 लाख : पूर्व क्रिकेटर तथा भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) के अध्यक्ष सौरव गांगुली ने 50 लाख रुपए के चावल दान करने की घोषणा की है।

सुरेश रैना – 52 लाख : सुरेश रैना ने पीएम केयर्स (31 लाख) तथा उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री आपदा राहत कोष (21) में 52 लाख रुपए दान किए हैं।

शिखर धवन – गोपनीय : विराट की तरह ही शिखर धवन ने भी प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष (PMNARF) में गुप्तदान करने की घोषणा की है।

अजिंक्य रहाणे – 10 लाख : अजिंक्य रहाणे ने महाराष्ट्र मुख्यमंत्री राहत कोष में 10 लाख रुपए दान करने की घोषणा की है।

इरफान-युसुफ – 4000 मॉस्क : वडोदरा-गुजरात निवासी पूर्व क्रिकेट खिलाड़ी बंधुओं इरफान पठान एवं युसुफ पठान ने गुजरात सरकार को 4000 फेस मॉस्क डॉनेट किए हैं।

युवराज सिंह – 50 लाख : पूर्व क्रिकेटर युवराज सिंह ने पीएम केयर्स फंड में 50 लाख रुपए दान किए हैं।

मिताली राज 10 लाख : बात क्रिकेट खिलाड़ियों की ही चल रही है, तो भारतीय महिला क्रिकेट खिलाड़ी मिताली राज ने मिताली ने पीएम केयर्स फंड व तेलंगाना मुख्यमंत्री राहत कोष में 5-5 लाख रुपए यानी कुल 10 लाख रुपए दान किए हैं।

पूनम यादव – 2 लाख : एक और महिला क्रिकेटर पूनम यादव ने पीएम केयर्स में 1 लाख तथा यूपी सीएम राहत कोष में 1 लाख रुपए दान दिए हैं।

दीप्ति शर्मा – 1.50 लाख : क्रिकेटर खिलाड़ी दीप्ति शर्मा ने पीएम केयर्स फंड, यूपी सीएम राहत कोष एवं पश्चिम बंगाल आपात कोष में 50-50 हज़ार रुपए दिए हैं।

रीचा घोष – 1 लाख : केवल 16 साल की क्रिकेटर रीचा घोष ने पश्चिम बंगाल सीएम राहत कोष में 1 लाख रुपए दिए हैं। पूर्व क्रिकेटर व पश्चिम बंगाल सरकार में मंत्री लक्ष्मी रतन शुक्ला ने 3 माह का वेतन पश्चिम बंगाल मुख्यमंत्री राहत कोष में दिया है।

हिमा दास – 1 माह का वेतन : एथलीट हिमा दास ने अपनी एक माह की सैलरी असम सरकार के असम आरोग्य निधि खाते में दान करने की घोषणा की है।

अनिल कुम्बले – गोपनीय

पी. वी. सिंधु – 1.50 लाख

एस. गणशेखरन – 1.25 लाख

नीरज चौपड़ा – 3 लाख

मनु भाकर – 1 लाख

गौरी शिओरन – 1 लाख

एशा सिंह – 30,000

बजरंग पुनिया – 6 माह का वेतन

अपूर्वी चंदेला – 5 लाख

अंकुर मित्तल – 1.51 लाख

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here