CORONA V/S CRICKET : अरबों-ख़रबों की कमाई वाली IPL ही नहीं, टी-20 विश्व कप पर भी संकट के बादल

0
941

अमदाबाद। दिसम्बर-2019 में चीन के वुहान में सामने आए कोरोना (CORONA) संक्रमण ने देखते ही देखते महामारी का रूप ले लिया। कोविड 19 (COVID 19) के रूप में चीन से पूरे विश्व में यह बीमारी इतनी तीव्रता से फैली कि जनता से लेकर सरकार तक भी की गतिविधियाँ प्रभावित हुईं। कई क्षेत्रों को भारी आर्थिक नुकसान का सामना करना पड़ा। ऐसे में कोरोना की यम क्रीड़ा से खेल जगत भी अछूता नहीं रह सका और 22 जनवरी, 2020 से ही कोरोना का प्रभाव खेल जगत पर दिखाई देने लगा। कोरोना का यह घातक प्रभाव इस पराकाष्ठा तक बढ़ गया कि विश्व की सबसी बड़ी खेल प्रतियोगिता ओलंपिक 2020 को 2021 पर टाल दिया गया, तो भारत में अप्रैल-मई की भीषण गर्मी के पश्चात् भी पिछले 11 वर्षों से हो रही भारतीय प्रीमियर लीग (IPL) क्रिकेट प्रतियोगिता अपने इतिहास में पहली बार इस वर्ष 2020 में अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दी गई।

कोरोना महासंक्रमण के कारण भारत सहित विश्व की सैंकड़ों खेल प्रतियोगिताएँ स्थगित या निरस्त हो चुकी हैं। इससे हज़ारों खिलाड़ी जहाँ आय व प्रसिद्धि दोनों से वंचित हो गए हैं, लाखों-करोड़ दर्शक अपने प्रिय खेलों का रोमांच नहीं उठा पाएँगे। दूसरी ओर अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक परिषद् (IOC), अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद् (ICC) तथा भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) सहित सैंकड़ों खेल संगठनों का अरबों-ख़रबों का कारोबार कोरोना की यम क्रीड़ा की भेंट चढ़ गया है।

यदि बात केवल क्रिकेट की करें, तो बीसीसीआई को करोड़ों-अरबों-खरबों की कमाई कराने वाली आईपीएल क्रिकेट प्रतियोगिता अनिश्चितकाल के लिए स्थगित करनी पड़ी है। यद्यपि बीसीसीआई अभी भी कहीं न कहीं यह आस लगाए बैठा है कि कदाचित कोरोना संक्रमण का ग्राफ नीचे आते ही वह आईपीएल 2020 का आयोजन कर लेगा, परंतु इसके लिए बीसीसीआई के पास समय दो-तीन या बहुत-बहुत तो चार महीने का ही है, क्योंकि 25 अक्टूबर, 2020 से आईसीसी टी-ट्वेंटी वर्ल्ड कप प्रारंभ होने वाला है। ऐसे में यदि मान लिया जाए कि वैश्विक महामारी कोरोना पर मई-जून तक भी क़ाबू पा लिया गया, तो बीसीसीआई के पास जुलाई-अगस्त में आईपीएल आयोजित करने की संभावना रहेगी, परंतु उस समय आईपीएल में भाग लेने वाले विदेशी खिलाड़ी कितने उपलब्ध होंगे, यह कहना मुश्क़िल है। ऐसे में भले ही बीसीसीआई आस के भरोसे आईपीएल को निरस्त करने के स्थान पर केवल स्थगित कर रहा है, परंतु अंतत: उसे यह प्रतियोगिता निरस्त ही करनी होगी।

कोरोना संकट यदि अधिक लंबा खिंचता है, तो आईसीसी टी-ट्वेंटी वर्ल्ड कप 2020 के आयोजन पर भी प्रश्नचिह्न लग सकता है। यह वर्ल्ड कप इस बार ऑस्ट्रेलिया में 24 अक्टूबर से 15 नवंबर, 2020 के दौरान आयोजित होना है, परंतु कोरोना ने जिस प्रकार पूरे विश्व को अपनी चपेट में ले रखा है, उसे देखते हुए फिलहाल तो बीसीसीआई के बाद आईसीसी को भी ख़रबों रुपयों की कमाई कराने वाली आईसीसी टी-ट्वेंटी वर्ल्ड कप प्रतियोगिता 2020 को स्थगित या 2020 के लिए निरस्त करना पड़ सकता है। ऐसे में आईसीसी को यह संभावना देखनी होगी कि हर दो वर्ष में एक बार होने वाला आईसीसी टी-ट्वेंटी वर्ल्ड कप क्या 2021 में कराया जा सकता है या निर्धारित शिड्युअल के अनुसार 2022 में ही कराया जाएगा।