C नामधारी कैंसर-कॉमा सहित सभी रोगों पर भारी पड़ रहा CORONA

0
679

* कोविड 19 महामारी के बीच अन्य साधारण रोग हुए रफूचक्कर !

* छोटे दवाखानों से लेकर बड़े अस्पतालों तक कोरोना ही कोरोना….

‘फाइलों’ वाले बड़े-बड़े डॉक्टरों व अस्पतालों में पसरा सन्नाटा

लॉकडाउन से मुक्त होकर भी मेडिकल स्टोर्स चल रहे घाटे में

विशेष रिपोर्ट : कन्हैया कोष्टी

अहमदाबाद (25/04/2020)। भारत सहित समग्र विश्व इस समय कोरोना (CORONA) वायरस से फैली महामारी कोविड 19 (COVID 19) के तांडव से जूझ रहे हैं। भारत में गत 24 मार्च से लागू लॉकडाउन (LOCKDOWN) के बीच जहाँ एक और छोटे-मोटे डॉक्टरों ने अपने क्लिनिक बंद कर रखे हैं, वहीं जो बड़े-बड़े रोगों के बड़े-बड़े स्पेशलिस्ट डॉक्टरों के छोटे-बड़े क्लिनिक से लेकर बड़े-बड़े अस्पतालों में भी आम दिनों में आने वाले मरीज़ों की संख्या में भारी गिरावट आई है। मेडिकल स्टोर्स को लॉकडाउन से मुक्त रखा गया है, परंतु वहाँ भी कुछ नियमित रूप से ली जाने वाली दवाइयों के ख़रीदार ही आ रहे हैं। बड़ी-बड़ी फाइलों में लिखे प्रिस्क्रिप्शन के साथ लोगों के नहीं आने से मेडिकल स्टोर्स भी घाटे में चल रहे हैं।

ऐसे में प्रश्न उठता है कि अंतत: साधारणत: होने वाली बीमारियों सर्दी, ज़ुकाम, बुखार, सिर दर्द, पेट दर्द, दाँत दर्द आदि रोग कहाँ रफूचक्कर हो गए ? कोरोना ने लोगों की मानसिकता पर ऐसा प्रभाव डाला है कि लोगों की पहली प्राथमिकता कोरोना से बचने की है और यही कारण है कि लोग अन्य रोगों को गंभीरता से नहीं ले रहे या यह भी कह सकते हैं कि लॉकडाउन के चलते धरातलीय व आकाशीय वातावरण में आई शुद्धता ने भी साधारण रोगों को रफूचक्कर कर दिया है।

नए वर्ष जनवरी-2020 से आरंभ हुए कोरोना के कहर ने धीरे-धीरे ऐसा विकराल रूप धारण कर लिया कि आज पूरे विश्व में सबसे ख़तरनाक माने जाने वाले असाध्य रोगों AIDS, CANCER, DIABITIES, THALESEMIA, BLOOD PRESSURE (BP) तथा HEART DESEASE भी पीछे छूट गए हैं। कोरोना ने गंभीर से गंभीर बीमारियों से ग्रस्त लोगों को इस तरह भयाक्रांत कर दिया है कि C नाम धारी हर बीमारी में लोगों को कोरोना ही दिखाई देता है। इतना ही नहीं, यह कोरोना वायरस C नामधारी लगभग 100 प्रकार के रोगों पर भारी पड़ रहा है। इस सी नामधारी श्रेणी में शामिल रोगों में सबसे ख़तरनाक कैंसर है, परंतु कोरोना जितनी तेज़ी से लोगों के प्राण-पंखेरू उड़ा देता है, उसकी तुलना में कैंसर कम से कम इंसान को संभलने, सोचने-विचारने या मृत्यु ही विकल्प रह जाए, तो अंतिम इच्छा पूरी करने का भी अवसर देता है। दूसरी तरफ कोरोना इंसान को दीमक की तरह, लेकिन एक्स्प्रेस स्पीड से मौत की ओर ले जाता है। इसी प्रकार कॉमा कोई रोग नहीं, अपितु अवस्था है, परंतु कॉमा के केस अक्सर सड़क दुर्घटना या अन्य कारणों से मस्तिष्क में लगने वाली गंभीर चोट के कारण आते हैं। लॉकडाउन में दुर्घटनाएँ भी नहीं हो रही हैं, जिससे अस्पतालों में कॉमा मरीज़ों का आना भी लगभग नहीं के बराबर है।

यदि हम C नामधारी रोगों की बात करें, तो इस समय कोरोना ने कैंसर ही नहीं, बल्कि लगभग 100 प्रकार की बीमारियों को अपने में समेट लिया है। आम दिनों में जहाँ लोग छोटे-बड़े क्लिनिक्स व बड़े-बड़े अस्पतालों में इन सी नाम धारी बीमारियों के इलाज पर लाखों-करोड़ों रुपए खर्च करते थे, वहीं कोरोना एक ही झटके में सभी बीमारियों का बाप बन कर उभरा है। सी नामधारी बीमारियों में कैंसर सहित कई ख़तरनाक, दर्दनाक व पीड़ादायक बीमारियाँ हैं, जिनके नाम निम्नानुसार हैं :

Curvature of Spine अर्थात् रीढ़ की हड्डी का टेढ़ा हो जाना
Calculus (Biliary and Urinary Stone) अर्थात् पित्त की थैली में पथरी (मूत्र पथरी)
Callosities अर्थात् गट्टे
Carbuncle अर्थात् बिना मुंह का फोड़ा होना
Caries अर्थात् हडि्डयों का सड़ जाना
Cararact अर्थात् मोतियाबिन्द
Catarrh, Cold अर्थात् जुकाम (श्लैष्मिक झिल्ली की सूजन)
Chancre, Hard or Soft अर्थात् सिफिलस का सख्त या नर्म फोड़ा
Chicken-pox अर्थात् छोटी माता
Chilblains अर्थात् सर्दियों में एड़ियों का फटना (बिवाई)
Cholera अर्थात् हैजा
Chlorosis (Green Sickness) अर्थात् हरित्-रोग
Chorea (St. Vitus’ Dance) अर्थात् ताण्डव-रोग
Climacteric Sufferings अर्थात् रजोनिवृत्ति (मासिकस्राव बंद होने के समय होने वाली परेशानी)
Coccygodynia अर्थात् रीढ़ की आखिरी हड्डी में दर्द होना
Coition अर्थात् संभोग क्रिया से सम्बंधित रोग
Cold अर्थात् ठंड के कारण ज़ुकाम हो जाना
Coldness अर्थात् बहुत अधिक ठंड लगते रहना
Colic अर्थात् पेट में मरोड़ के साथ दर्द उठना
Colitis अर्थात् कोलन से आँव आना
Colapse and Coma अर्थात् जीवनी-शक्ति की कमी तथा बेहोशी
Condyloma अर्थात् गुदा द्वार के पास मस्से निकल जाना
Conjunctivitis अर्थात् आँखों की पलकों की श्लैष्मिक झिल्ली में सूजन आना
Constipation अर्थात् कब्ज़ (कोष्ठ-काठिन्य)
Consumption अर्थात् तपेदिक, क्षय (Tuberculosis)
Convusions (Spasms) अर्थात् आक्षेप, ऐंठन
Coronary Thrombosis (Embolism) अर्थात् खून के थक्के से रुकावट
Corpulence अर्थात् मोटापा (Obesity)
Coryza अर्थात् ज़ुकाम
Cough (Dry and Wet अर्थात् खाँसी (गीली या सूखी)
Craving अर्थात् उत्कट-इच्छा
Cracks अर्थात् त्वचा का फटना ((Rhagades)
Cramps अर्थात् ऐंठन
Croup अर्थात् घुण्डी खाँसी
Cyanosis अर्थात् त्वचा पर नील पड़ जाना
Cystitis अर्थात् मूत्राशय की जलन
Catarrhal Headache अर्थात् श्लैष्मिक झिल्ली की सूजन से सिर में दर्द
Congestive अर्थात् सिर में या किसी दूसरे अंग में खून के जमा हो जाने के कारण होने वाला सिर दर्द
Coronary Thrombosis अर्थात् ख़ून के थक्के सें दिल की धड़कन कम हो जाना
Congenital Hydrocele अर्थात् जन्म से ही अण्डकोषों के बढ़ने का रोग
Chapped Hands अर्थात् हाथों की त्वचा फट जाना
Cramps अर्थात् पैरों और पेट में ऐंठन होना Convulsions अर्थात् बेहोशी छाना